Aa Ab laut chalen (let's go back) campaign By IP Foundation's

Aa Ab laut chalen (let's go back) IP Foundation's campaign 'Aa Ab Laut Chalein', along with giving information to the villagers on how to earn money by staying in the villages, also lays emphasis on how to increase employment in the villages. To improve the level of education in the village, coaching classes are conducted for personality development. You all know that the condition of the villagers is very pathetic. It becomes their compulsion to go towards the city to fulfill their needs. Living in a lot of poverty in the city, they are able to earn only nominal money even after working hard. In this sequence, our villages are also slowly being destroyed. Keeping this in view, IP Foundation has started a campaign, let's go back now. Under this, lectures are given to motivate the villagers, efforts are being made to arrange employment in every house. There is no hope but faith that with the blessings of all of you hard work will pay off and the dream of making the villages beautiful and green will come true.

आ अब लौट चलें

आई पी फ़ाउंडेशन की मुहिम आ अब लौट चलें गाँव-गाँव में ग्रामीणों को गाँव में ही रह कर किस प्रकार अर्थोपार्जन करें, विषय पर जानकारी देने के साथ ही गाँव में रोज़गार कैसे बढ़ायें विषय पर भी ज़ोर देती है। गाँव में शिक्षा के स्तर को बेहतर करने के लिये , पर्सनालिटी डेवलपमेंट के लिए कोचिंग क्लास कराती है। आप सभी जानते हैं कि ग्रामीणों की स्थिति बहुत ही दयनीय है। अपनी आवश्यकताओं की पूर्ति के लिए शहर की ओर जाना इनकी मजबूरी बन जाती है। शहर में ये बहुत अभाव में रहकर कठिन परिश्रम कर के भी नाममात्र का पैसा ही कमा पाते हैं । इस क्रम में हमारे गाँव भी धीरे-धीरे उजड़ रहे हैं। इसी के मद्देनज़र आई पी फ़ाउंडेशन ने मुहिम चलाई है आ अब लौट चलें । इसके तहत ग्रामीणों को मोटिवेट करने के लिए लेक्चर दिए जाते हैं, घर घर रोज़गार की व्यवस्था करने का प्रयास किया जा रहा है। आशा ही नहीं विश्वास हैं कि आप सभी के आशीर्वाद से मेहनत रंग लाएगी और गावों को सुंदर और सरसब्ज़ बनाने का सपना साकार होगा ।